कबीर की साखियाँ

Sponsor Area

Question
CBSEENHN8000779

निम्नलिखित पद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए-
माला तो कर में फिरै, जीभि फिरै मुख माँहि।
मनुवाँ तो दहुँ दिसि फिरै, यह तौ सुमिरन नाहिं।।

पाखंड किस रूप में दिखता है?
  • दिखावे की भक्ति करने में
  • छापे-तिलक लगाने में
  • हाथ में मनकों की माला और मुँह में निरंतर राम का नाम लेकिन मन का दसों दिशाओं में भटकना
  • एकाग्रचित्त न होने पर।

Solution

C.

हाथ में मनकों की माला और मुँह में निरंतर राम का नाम लेकिन मन का दसों दिशाओं में भटकना

Sponsor Area