दीवानों की हस्ती

Question
CBSEENHN8000586

निम्नलिखित पद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए-
हम दीवानों की क्या हस्ती,
हैं आज यहाँ, कल वहाँ चलें,
मस्ती का आलम साथ चला,
हम धूल उड़ाते जहाँ चले।

आए बनकर उल्लास अभी,
आँसू बनकर बह चल अभी,
सब कहते ही रह गए. अरे,
तुम कैसे आए, कहाँ चले?

वे चाहते हुए भी अपने भाई-बांधवों के पास क्यों नहीं रह पाते?
  • क्योंकि उनका लक्ष्य अंग्रेजी सरकार का विरोध करना है?
  • क्योंकि वे एक स्थान पर टिककर नहीं रह सकते?
  • क्योंकि परिवार वाले उनके विचारों से प्रेरित नहीं होते?
  • क्योंकि उनका लक्ष्य स्पष्ट नहीं।

Solution

A.

क्योंकि उनका लक्ष्य अंग्रेजी सरकार का विरोध करना है?

Sponsor Area