विधुत धारा के रासायनिक प्रभाव

  • Question 9
    CBSEHHISCH8006533

    क्या शुद्ध जल विद्युत् का चालन करता है? यदि नहीं, तो इसे चालक बनाने के लिए हम क्या कर सकते हैं?

    Solution

    नहीं, शुद्ध जल विद्युत् का चालन नहीं करता। इसे चालक बनाने के लिए हम इसमें नमक, चीनी जैसे साधारण लवण घोलकर इसे चालक बना सकते हैं। क्योंकि लवणों में विद्युत् का चालन होता है।

    Question 10
    CBSEHHISCH8006534

    आग लगने के समय, फायरमैन पानी के हौज़ (पाइपों) का उपयोग करने से पहले उस क्षेत्र की मुख्य विद्युत् आपूर्ति को बन्द कर देते हैं। व्याख्या कीजिए कि वे ऐसा क्यों करते हैं।

    Solution

    आग लगने के समय, फायरमैन पानी के हौज़ ( पाइपों ) का उपयोग करने से पहले उस क्षेत्र कि मुख्य विद्युत् आपूर्ति इसलिए बन्द कर देते हैं क्योंकि साधारण पानी विद्युत् का सुचालक होता है। यदि छिड़काव के समय कुछ पानी विद्युत् बोर्ड आदि में चला जाए तो सारे क्षेत्र में विद्युत् धारा फैलने का खत्तरा बन जाएगा, जिससे जान, माल तक की हानि हो सकती है।

    Question 11
    CBSEHHISCH8006535

    तटीय क्षेत्र में रहने वाला एक बालक अपने संपरीक्षित्र से पीने का पानी तथा समुद्र के पानी का परीक्षण करता है। वह देखता है कि समुद्र के पानी के लिए चुंबकीय सुई अधिक विक्षेप दर्शाती है। क्या आप इसके कारण की व्यख्या कर सकते हैं?

    Solution

    समुद्र के पानी के लिए चुंबकीय सुई अधिक विक्षेप इसलिए दिखती है क्योंकि समुद्र का पानी संपरीक्षित्र के पानी से अधिक अच्छा विद्युत् का चालक है, क्योंकि वह दूसरे पानी की अपेक्षा अधिक खनिज लवण वाला (नमकीन) होता है।

    Question 12
    CBSEHHISCH8006536

    क्या तेज़ वर्षा के समय किसी लाइनमैन के लिए बाहरी मुख्य लाइन के विद्युत् तारों को मरम्मत करना सुरक्षित होता है? व्याख्या कीजिए।

    Solution

    नहीं। तेज़ वर्षा के समय किसी लाइनमैन के लिए बहरी मुख्य लाइन के विद्युत् तारों की मरम्मत करना सुरक्षित नहीं है क्योंकि पानी विद्युत् का सुचालक है। तेज़ वर्षा के समय ज़रा-सा भी विद्युत् रिसाव की दिशा में लाइनमैन को करंट लग सकता है और उसकी जान तक को खतरा पहुँच सकता है।

    Delhi University

    NCERT Book Store

    NCERT Sample Papers

    Entrance Exams Preparation