विधुत धारा के रासायनिक प्रभाव

  • Question 5
    CBSEHHISCH8006529

    जब किसी संपरीक्षित्र के स्वतंत्र सिरों को किसी विलयन में डुबोते हैं तो चुम्बकीय सुई विक्षेपित होती है। क्या आप ऐसा होने के कारण की व्याख्या कर सकते हैं?

    Solution

    जब किसी संपरीक्षित्र के स्वतंत्र सिरों को किसी विलयन में डुबोते हैं तो चुम्बकीय सुई विक्षेपित होती है। इसका कारण यह है कि विद्युत् धारा चुम्बकीय प्रभाव उत्त्पन्न करती है। विद्युत् धारा के बहुत दुर्बल होने पर भी चुंबकीय सुई विक्षेपित होती है।

    Question 6
    CBSEHHISCH8006530

    ऐसे तीन द्रवों के नाम लिखिए जिनका परीक्षण चित्र में दर्शाए अनुसार करने पर चुंबकीय सुई विक्षेपित हो सके।

    Solution

    (i) नींबू का पानी
    (ii) टोंटी का पानी
    (iii) कॉपर सल्फ़ेट

    Question 7
    CBSEHHISCH8006531

    चित्र में दर्शायी गई व्यवस्था में बल्ब नहीं जलता। क्या आप सम्भावित कारणों की सूचि बना सकते हैं? अपने उत्तर की व्याख्या कीजिए।
     

    Solution

    अगर चित्र में दर्शायी गई व्यवस्था में बल्ब नहीं जलता है तो इसके सम्भावित कारण निम्न हो सकते हैं-
    (i) द्रव अपने में से विद्युत् धारा प्रवाहित नहीं होने देता।
    (ii) विद्युत् धारा बहुत दुर्बल हो, जिससे तंतु पर्याप्त गर्म नहीं हो पाता फलत: बल्ब दीप्त नहीं होता।

    Question 8
    CBSEHHISCH8006532

    दो द्रवों A तथा B, के विद्युत् चालन की जाँच करने के लिए एक संपरीक्षित्र का प्रयोग किया गया। यह देखा गया कि संपरीक्षित्र का बल्ब द्रव A के लिए चमकीला दीप्त हुआ जबकि द्रव B के लिए अत्यंत धीमा दीप्त हुआ। आप निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि:
    (i) द्रव A, द्रव B से अच्छा चालक है।
    (ii) द्रव B, द्रव A से अच्छा चालक है।
    (iii) दोनों द्रवों की चालकता समान है।
    (iv) द्रवों की चालकता के गुणों की तुलना इस प्रकार नहीं की जा सकती।

    • द्रव A, द्रव B से अच्छा चालक है।

    • द्रव B, द्रव A से अच्छा चालक है।

    • दोनों द्रवों की चालकता समान है।

    • द्रवों की चालकता के गुणों की तुलना इस प्रकार नहीं की जा सकती।

    Solution

    A.

    द्रव A, द्रव B से अच्छा चालक है।

    Delhi University

    NCERT Book Store

    NCERT Sample Papers

    Entrance Exams Preparation