वायु तथा जल का प्रदूषण

  • Question 9
    CBSEHHISCH8006610

    आपके द्वारा कक्षा में विश्व उष्णन के बारे में दिया जाने वाला संक्षिप्त भाषण लिखिए?

    Solution

    विश्व उष्णन पृथ्वी के लिए एक गंभीर खतरा है पृथ्वी के औसत तापमान में निरंतर वृद्धि को विश्व उष्णन कहा जाता है। यह पौधा-घर गैसों द्वारा फंसे अत्यधिक गर्मी के कारण होता है। मानव गतिविधियों के कारण पौधा-घर गैसों में वृद्धि और पेड़ काटने वाले कार्बन डाइऑक्साइड का एक प्रमुख हरे घर का गैस विश्व उष्णन के लिए मार्ग बना रहा है।
    विश्व उष्णन के परिणामस्वरूप समुद्र के स्तर में वृद्धि, तटीय क्षेत्र के जलमग्न, बारिश के क्षेत्र में बदलाव, कृषि पद्धति में बदलाव आदि का प्रभाव हो सकता है। रिसर्च के मुताबिक अगर हम वर्तमान स्तर पर पौधा-घर गैसों को नहीं रखते हैं, तो तापमान सदी के अंत तक 2 डिग्री सेल्सियस से अधिक हो सकता है, जो सभी जीवन रूपों के लिए बहुत खतरनाक हो सकता है। इसलिए, हमें विश्व उष्णन को नियंत्रित करने की आवश्यकता है।

    Question 10
    CBSEHHISCH8006611

    ताजमहल की सुंदरता पर संकट का वर्णन करें?

    Solution

    ताजमहल के चारों ओर स्थित रबड़ प्रक्रमण, स्वचालित वाहन निर्वातक, रसायन और विशेषकर मथुरा तेल परिष्करण जैसे उद्योग प्रदूषित गैसों को वर्षा के साथ मिलाकर अम्ल वर्षा कहते हैं। इसी के कारन ताजमहल के संगमरमर का संक्षारण हो रहा है और पीला भी हो रहा है।
    इसको सुरक्षित रखने के लिए सर्वोच्च न्यायलय ने उद्योगों को सी एन जी,एलपीजी आदि स्वच्छ ईंधनों का उपयोग करने के आदेश दिए हैं और ताज के क्षेत्र में मोटर वाहनों में सीसा रहित पेट्रोल का उपयोग करने के आदेश दिए हैं।

    Question 11
    CBSEHHISCH8006612

    जल में पोशाकों के स्तर में वृद्धि किस प्रकार जल जीवों की उत्तरजीविता को प्रभावित करती है?

    Solution

    औद्योगिक इकाइयों के लिए बनाए गए नियमों को सख्ती से लागू किया जाना चाहिए ताकि प्रदूषित जल को सीधे ही नदियों तथा झीलों में नहीं बहाया जा सके। सभी औद्योगिक क्षेत्रों में जल उपचार संयंत्र स्थापित किये जाने चाहिए। व्यक्तिगत स्तर पर हमें निष्ठापूर्वक जल की बचत करनी चाहिए और उसे बेकार नहीं करना चाहिए। धुलाई तथा अन्य घरेलू कार्य में उपयोग हो चुके जल के पुनः उपयोग संबंधी नए विचारों के बारे में हम सोच सकते है।

    Delhi University

    NCERT Book Store

    NCERT Sample Papers

    Entrance Exams Preparation