विद्युत धारा के चुंबकीय प्रभाव

  • Question 17
    CBSEHHISCH10015297

    ताँबे के तार की एक आयातकार कुंडली किसी चुम्बकीय क्षेत्र में घूर्णी गति कर रही है। इस कुंडली में प्रेरित विद्युत् धारा की दिशा में कितने परिभ्रमण के पश्चात परिवर्तन होता है?
    • दो 

    • एक 

    • आधा

    • चौथाई 

    Solution
    Question 18
    CBSEHHISCH10015298

    विद्युत् परिपथों तथा साधित्रों में सामान्यतः उपयोग होने वाले दो सुरक्षा उपायों के नाम लिखिए। 

    Solution
    i)भू-संपर्क तार (अर्थिंग) और, 
    (ii)विद्युत् फ्यूज़।
    Question 19
    CBSEHHISCH10015299

    2 KW शक्ति अनुमतांक का एक विद्युत् तंदूर किसी घरेलू विद्युत् परिपथ (220 V) में प्रचालित किया जाता है जिसका विद्युत् धारा अनुमतांक 5A है, इससे आप किस परिणाम की अपेक्षा करते हैं? स्पष्ट कीजिए। 

    Solution

    विद्युत् तंदूर की शक्ति,
    P = 2KW = 2000W
    V = 220V
    I = P/V = 2000/220 = 9.09A
    विद्युत् धारा का अनुमतांक 5A है और विद्युत् तंदूर इससे कहीं ज़्यादा विद्युत् धारा ले रहा है।
    इसी प्रकार, परिपथ में विद्युत् अतिभारण हो जाएगा, फ्यूज़ उड़ जाएगा और और विद्युत् पथ अवरोधित हो जाएगा।

    Question 20
    CBSEHHISCH10015300

    घरेलू विद्युत् परिपथों में अतिभारण से बचाव के लिए क्या सावधानी बरतनी चाहिए?

    Solution

    घरेलू विद्युत् परिपथों में अतिभारण से बचाव के लिए निम्नलिखित सावधानियाँ बरतनी चाहिए:
    (i) विद्युत् प्रवाह के लिए प्रयुक्त की जाने वाली तारें अच्छे प्रतिरोधन पदार्थों से ढकी होनी चाहिए जैसे पीवीसी (पॉलीविनाइल क्लोराइड)।
    (ii) विद्युत् परिपथ विभिन्न परिपथों में विभाजित होने चाहिए और प्रत्येक साधित्र का फ्यूज़ होना चाहिए।
    (iii) उच्च शक्ति प्राप्त करने वाले एयर कंडीशनर, फ्रिज, हीटर, आदि का एक साथ प्रयोग नहीं करना चाहिए। 

    NCERT Book Store

    NCERT Sample Papers

    Entrance Exams Preparation