विद्युत धारा के चुंबकीय प्रभाव

  • Question 9
    CBSEHHISCH10015289

    क्रियाकलाप 13.7 में हमारे विचार से छड़ AB का विस्थापन किस प्रकार प्रभावित होगा यदि 
    (i) छड़ AB में प्रभावित विद्युत् धारा में वृद्धि हो जाए;
    (ii) अधिक प्रबल नाल चुम्बक प्रयोग किया जाए; और  
    (iii) छड़ AB की लम्बाई में वृद्धि कर दी जाए?

    Solution

    (i) यदि छड़ AB में प्रभावित विद्युत् धारा में वृध्दि हो जाए तो चुम्बकीय क्षेत्र में वृद्धि होगी जिससे छड़ पर लगाए गए बल में वृद्धि हो जाएगी और छड़ का विस्थापन बढ़ जाएगा।
    (ii) जब प्रबल नाल चुम्बक का प्रयोग किया जाए तो चुम्बकीय क्षेत्र में वृद्धि हो जाएगी जिससे छड़ AB पर लगने वाले बल में वृद्धि होगी और छड़ का विस्थापन बढ़ जाएगा। 
    iii) यदि छड़ AB की लम्बाई में वृद्धि कर दी जाए तो चुम्बकीय क्षेत्र में वृद्धि होगी ( चुम्बकीय क्षेत्र विद्युत् चालक की लम्बाई के सीधे अनुपातित होती है ) जिससे छड़ पर लगने वाले बल में वृद्धि होगी और छड़ का विस्थापन बढ़ जाएगा। 

    Question 10
    CBSEHHISCH10015290

    पश्चिम की और प्रक्षेपित कोई धनावेशित कण ( अल्फा-कण ) किसी चुम्बकीय क्षेत्र द्वारा उत्तर की और विक्षेपित हो जाता है। चुम्बकीय क्षेत्र की दिशा क्या है? 
    • दक्षिण की ओर 

    • पूर्व की ओर

    • अधोमुखी

    • उपरिमुखी 

    Solution
     
    Question 11
    CBSEHHISCH10015291

    फ्लेमिंग का वामहस्त नियम लिखिए। 

    Solution

    फ्लेमिंग के वामहस्त नियम के अनुसार वामहस्त के अंगूठे, तर्जनी के मध्य अंगुली को इस प्रकार फैलाएं कि वे परस्पर समकोण बनायें और तर्जनी चुम्बकीय क्षेत्र कि दिशा, मध्य अंगुली विद्युत् कि दिशा और अंगूठा चालाक पर लगने वाले बल कि दिशा बताये। 

    Question 12
    CBSEHHISCH10015292

    विद्युत् मोटर का क्या सिद्धांत है? 

    Solution
    विद्युत् मोटर के सिद्धांत के अनुसार यदि किसी कुंडली को चुम्बकीय क्षेत्र में रखकर उसमें विद्युत् धारा प्रवाह की जाए तो कुंडली पर एक बल कार्य करता है जो कुंडली को उसके अक्ष पर घुमाता है। 

    NCERT Book Store

    NCERT Sample Papers

    Entrance Exams Preparation