विदुयत

  • Question 45
    CBSEHHISCH10015280

    निम्नलिखित को स्पष्ट कीजिए
    विद्युत संचारण प्रायः कॉपर तथा एल्युमीनियम के तारों का उपयोग क्यों किया जाता है?

    Solution

    कॉपर और एल्युमीनियम के तारों का प्रतिरोध न्यूनतम है इसलिए इनका प्रयोग विद्युत् संचारण में किया जाता है।



    Question 46
    CBSEHHISCH10015493

    यह दर्शाइए कि तीन प्रतिरोधकों, जिनमें प्रत्येक का प्रतिरोध 9 Ω है, को आप किस प्रकार संयोजित करेंगे कि संयोजन का तुल्य प्रतिरोध (i)13.5Ω (ii) 6Ω प्राप्त हो?

    Solution

    संयोजन का संभावित तरीका

    9Ω का प्रतिरोधक समांतर और एक श्रृंखला में जोड़ सकते है

    1R1 + 1R2 + R319 + 19 + 929 + 94.5 Ω + 9Ω = 13.5 Ω

    2 प्रतिरोधक श्रृंखला में जुड़े और एक समानांतर में।

    R1 + R2 =
    = 9Ω + 9Ω = 18Ω

    18Ω और 9Ω जुड़े हुए हैं

    18 x 918 +9 = 6Ω

    Question 47
    CBSEHHISCH10015495

    a) किसी चालक, जिसकी आकृति तार जैसी है, का प्रतिरोध जिन कारकों पर निर्भर करता है, उनकी सूची बनाइए ।

    b) धातुएँ विद्युत की अच्छी चालक तथा काँच विद्युत का कुचालक क्यों होता है? कारण दीजिए ।

    c) विद्युत तापन युक्तियों में सामान्यत: मिश्रातुओं का उपयोग क्यों किया जाता है? कारण दीजिए ।

    Solution

    a) वह कारक जिन पर किसी चालक का प्रतिरोध निर्भर करता है:
    (।) चालक की लम्बाई (अथवा R ∝l)
    (ii)चालक की अनुप्रस्थ काट का क्षेत्रफल (अथवा R ∝1/A)

    b) धातुएँ विद्युत की अच्छी चालक होती है - चूँकि उनकी प्रतिरोधकता निम्न (अल्प ) होती है चूँकि इनमें मुक्त इलेक्ट्रॉन होते हैं।

    काँच विद्युत का कुचालक है-- चूँकि उनकी प्रतिरोधकता उच्च होती है चूँकि इनमें मुक्त इलेक्ट्रॉन नहीं होते हैं।

    c) उच्च ताप पर तुरंत उपचयित नहीं होते/ मिश्रातुओ की प्रतिरोधकता उच्च होती है के गलनांक उच्च होते है।

    Question 48
    CBSEHHISCH10015524

    किसी प्रतिरोधक, जिसका प्रतिरोध (R)है, से प्रवाहित विद्युत धारा (I) और उसके सिरों के बीच तद्युरूपी विभवान्तर (V) के मान नीचे दिए गए अनुसार हैं

    V (volts) 0.5 1.0 1.5 2.0 2.5 3.0 4.0 5.0
    1 (amperes) 0.1 0.2 0.3 0.4 0.5 0.6 0.8 1.0

    धारा (I) और विभवान्तर (V) के बीच ग्राफ खींचिए और प्रतिरोधक का प्रतिरोध (R)ज्ञात कीजिए ।

    Solution

    प्रतिरोध  = 1-0.50.2-0.1 = 0.50.1 = 5Ω

    Delhi University

    NCERT Book Store

    NCERT Sample Papers

    Entrance Exams Preparation