विदुयत

  • Question 29
    CBSEHHISCH10015264

    किसी तांबे के तार का व्यास 0.5 mm तथा प्रतिरोधकता 1.6 x 10-8Ω m है 10Ω प्रतिरोध का प्रतिरोधक बनाने के लिए कितने लंबे तार की आवश्यकता होगी? यदि इससे दो गुना व्यास का तार लें तो प्रतिरोध में क्या अंतर आएगा?

    Solution

    तार का व्यास, D =0.5 mm = 0.5 x 103
    कॉपर का प्रतिरोध, P = 1.6 x 10-8 Ω m 
    इच्छित प्रतिरोधकता, R = 10 Ω 
    straight R space equals space fraction numerator straight P l over denominator straight A end fraction
l italic space italic equals italic space RA over straight P italic space italic space equals fraction numerator straight R space left parenthesis πD squared divided by 4 right parenthesis over denominator straight P end fraction space equals space fraction numerator πRD squared over denominator 4 straight P end fraction
open square brackets therefore space straight A equals space πr squared space equals space straight pi left parenthesis straight D divided by 2 right parenthesis squared equals space πD squared over 4 close square brackets
straight L space equals space fraction numerator 3.14 space straight x space 10 space straight x space left parenthesis 0.5 space straight x space 10 to the power of negative 3 end exponent right parenthesis squared over denominator 4 space straight x space 1.6 space straight x space 10 to the power of negative 8 end exponent end fraction straight m space equals space 122.7 space straight m
    यदि इससे दोगुना व्यास की तार लें तो अनुप्रस्थ काट का क्षेत्रफल चार गुणा हो जाएगा


    Question 30
    CBSEHHISCH10015265

    किसी प्रतिरोधक के सिरों के बीच विभवांतर के विभिन्न  मानों के लिए उससे प्रवाहित विद्युत धाराओं I के संगत  मान  निम्न दिए गए हैं।

    I (ऐम्पियर)

    0.5

    1.0

    2.0

    3.0

    4.0

    V वोल्ट)

    1.6

    3.4

    6.7

    10.2

    13.2

    V तथा I के बीच ग्राफ खींचकर इस  प्रतिरोधक का प्रतिरोध ज्ञात कीजिए।

    Solution
     V तथा I के बीच का ग्राफ

    ओम के नियम अनुसार,
    V = IR
    V तथा I के बीच का ग्राफ हमें R (प्रतिरोध) देता है
    इसलिए,  
    प्रतिरोधक का प्रतिरोध
    V = 4V (9V-5V),
    I = 1.25 (2.65 A - 1.40 A)
    straight R space equals space straight V over straight I space equals space fraction numerator 4 space straight V over denominator 1.25 space straight V end fraction space equals space 3.2 space straight capital omega
    Question 31
    CBSEHHISCH10015266

    किसी अज्ञात प्रतिरोध के प्रतिरोधक के सिरों से 12V की बैटरी को संयोजित करने पर परिपथ में 2.5 mA विद्युत धारा प्रवाहित होती है प्रतिरोधक का प्रतिरोध परिकलित कीजिए

    Solution

    V = 12V
    I = 2.5 mA = 2.5 x 10-3 A
    प्रतिरोधक का प्रतिरोध  =straight R space equals space straight V over straight I space equals space fraction numerator 12 space straight V over denominator 2.3 space straight x space 10 to the power of negative 3 end exponent end fraction space equals space 4800 space straight capital omega space equals space 4.8 KΩ

    Question 32
    CBSEHHISCH10015267

    9.9 V की किसी  बैटरी को 0.2 Ω, 0.3 Ω, 0.4 Ω, 0.5 Ω, तथा 12 Ω,  के प्रतिरोधकों के साथ श्रेणीक्रम में संयोजित किया गया है 12Ω के प्रतिरोधक से कितनी विद्युत् धारा प्रवाहित होगी?

    Solution

    सभी प्रतिरोधक श्रेणीक्रम में इसलिए
    Rs =  = 0.2 + 0.3 + 0.4 + 0.5 + 12 = 13.4 Ω  
    संभावित अंतर, V = 9 V 
    ओम नियम अनुसार 
    परिपथ में विद्युत्, straight I space equals space straight V over straight R subscript straight s space equals space fraction numerator 9 space straight V over denominator 13.4 space straight capital omega end fraction space space equals space 0.67 space straight capital omega

    श्रेणी क्रम में सभी प्रतिरोधकों में प्रवाहित विद्युत् समान होगी
    इसलिए सभी प्रतिरोधकों से प्रवाहित विद्युत् होगी = 0.67 A

    Delhi University

    NCERT Book Store

    NCERT Sample Papers

    Entrance Exams Preparation