शमशेर बहादुर सिंह

  • Question 9
    CBSEENHN12026227

    उषा का जादू कब टूटता है?

    Solution

    सूर्योदय होने पर उषा का जादू टूट जाता है क्योंकि सूर्य की किरणों के प्रभाव से आसमान में छायी लालिमा समाप्त हो जाती है।

    Question 10
    CBSEENHN12026228

    इस काव्यांश में किस स्थिति का चित्रण हुआ है?

    Solution

    इस काव्यांश में प्रात: कालीन दृश्य का सजीव अंकन किया गया है। प्रात-काल आसमान में क्षण-क्षण परिवर्तन आता है। ये परिवर्तन जादू के समान प्रतीत होते हैं।

    Question 11
    CBSEENHN12026229

    कवि की कल्पनाशीलता पर प्रकाश डालिए।

    Solution

    कवि प्रात:कालीन आकाश को देखकर तरह-तरह की मोहक कल्पनाएँ करता है। कभी वह इसमें नीले शंख की कल्पना करता है। तो कभी इसमें राख से लीपे हुए चौको की कल्पना करता है। कभी वह नीले जल में झिलमिलाती गौरवर्ण नवयुवती की कल्पना करता है।

    Question 12
    CBSEENHN12026230

    कविता के किन उपमानों को देखकर यह कहा जा सकता है कि उषा, कविता गाँव की सुबह का गतिशील शब्दचित्र है?

    Solution

    कविता के निम्नलिखित उपमानों को देखकर यह कहा जा सकता है कि ‘उषा’ कविता गाँव की सुबह का गतिशील शब्द-चित्र है-

    राख से लीपा हुआ चौका।

    बहुत काली सिल।

    स्लेट पर या लाल खड़िया चाक मलना।

    किसी की गौर झिलमिल देह का हिलना।

    NCERT Book Store

    NCERT Sample Papers

    Entrance Exams Preparation